दिल्ली चुनावों से मिला बूस्ट, पूरे देश में कैंपेन चलाकर एक महीने में एक करोड़ लोगों को जोड़ेगी आम आदमी पार्टी


Delhi CM and AAP chief Arvind Kejriwal (centre) with deputy CM Manish Sisodia and Gopal Rai | PTI File

नई दिल्ली: दिल्ली विधानसभा चुनावों में मिली जबर्दस्त जीत के बाद आम आदमी पार्टी के हौसले बुलंद हैं। पार्टी अब एक कैंपेन चलाने जा रही है जिसके तहत वह एक महीने में अपने साथ एक करोड़ लोगों को जोड़ने का लक्ष्य लेकर चल रही है। AAP के वरिष्ठ नेता गोपाल राय ने रविवार को कहा कि पार्टी के साथ एक करोड़ लोगों को जोड़ने के लिए AAP के विस्तार योजना के तहत 23 फरवरी से 23 मार्च तक उनका दल देशव्यापी अभियान चलाएगा। 
23 फरवरी से 23 मार्च तक चलेगा कैंपेन
दिल्ली में मुख्यमंत्री के आवास पर पार्टी के राज्य पदाधिकारियों के साथ बैठक के बाद राय ने कहा, ‘3 चीजों पर काम करने का निर्णय लिया गया है। पहले निर्णय के तहत राज्य इकाइयां 23 फरवरी से 23 मार्च तक राष्ट्रीय निर्माण अभियान शुरू करेंगी। इसके तहत सभी कार्यकर्ता सभाएं करेंगे और उनका मकसद एक करोड़ लोगों को पार्टी से जोड़ना होगा। दूसरे निर्णय के तहत वे एक पोस्टर अभियान भी चलाएंगे जिसमें दर्ज मोबाइल नंबर पर लोगों से मिस्ड काल करने के लिए कहेंगे।’
निकाय चुनावों में उतरना चाहती है AAP
गोपाल राय ने कहा कि तीसरे कदम के तौर पर सभी राज्यों के पार्टी पदाधिकारी राजधानियों में, फिर प्रमुख शहरों में प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन करेंगे और राष्ट्र निर्माण के लिए लोगों को आम आदमी पार्टी में शामिल होने के लिए कहेंगे। राय ने कहा, ‘कई राज्यों में आने वाले महीनों में चूंकि स्थानीय निकायों के चुनाव निर्धारित हैं, हम चाहते हैं कि यह अभियान जमीनी स्तर पर चले ताकि हम स्थानीय निकाय के चुनाव लड़ सकें और बेहतर परिणाम प्राप्त कर सकें।’
पंजाब में मुख्य विपक्षी दल है पार्टी
उन्होंने कहा कि अभियान के अगले चरण में पार्टी यह तय करेगी कि कहां विधानसभा चुनाव लड़ा जाए। पार्टी पहले ही स्थानीय चुनाव लड़ने के बारे में निर्णय कर चुकी है। आम आदमी पार्टी निर्वाचन आयोग में फिलहाल राज्य पार्टी के तौर पर पंजीकृत है और 2017 में पंजाब विधानसभा चुनाव में यह मुख्य विपक्षी के तौर पर उभरी थी। बैठक में पार्टी के बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, गोवा और कर्नाटक सहित अन्य राज्यों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया था। (भाषा)

Post a Comment

0 Comments