कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए ज्यादा जांच करें, देश में अब तक 15 हजार सैंपल ही टेस्ट किए; 5500 लोग क्वारैंटाइन किए गए

नई दिल्ली (पवन कुमार).विश्व स्वास्थ्य संगठन लगातार कह रहा है कि कोरोना‌वायरसके संक्रमण को रोकने के लिए अधिक से अधिक लोगों में संक्रमण की जांच होनी चाहिए,लेकिन हमारी सरकार का मानना है कि जरूरत से ज्यादा जांच करने से लोगों में दहशत होगी और यह गैर जरूरी है।इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) के महानिदेशक डॉ. बलराम भार्गव ने बताया कि हर व्यक्ति जिसको सर्दी, खांसी और जुकाम है उसे फिलहाल जांच कराने की जरूरत नहीं है। विदेश से आए ऐसे लोग जिनमेंइसका लक्षण मिल रहा है, उसे 14 दिन अलग रखना और जांच करना अनिवार्य है। किसी कोरोनावायरस मरीज के संपर्क में आने वाला व्यक्ति, जिसमें लक्षण दिखे उसकी जांच को अनिवार्य किया गया है। इसके बाद ऐसेलोग जो संक्रमितमरीजों के इलाज और प्रबंधन में लगे हैं, उनमें यदि लक्षण देखा जाता तो उनकी जांच को अनिवार्य किया गया है।

14 हजार 811 लोगों को सैंपल जांचे गए

आईसीएमआर के वैज्ञानिक डॉ. आर. गंगाखेड़कर ने भास्कर को बताया कि 20 मार्च की शाम छह बजे तक देश मेें कुल 15 हजार 701 नमूनों की जांच गए। जिसमें 14 हजार 811 लोग शामिल थे। (कुछ मरीज ऐसे थे जिनके नमूने को दो बार जांचा गया)। इतनी संख्या में जांच होने के बाद भी भारत में अभी तक मरीजों की संख्या 270 ही है। ऐसी स्थिति में सभी लोग जिनमें फ्लू की वजह से सर्दी-खांसी-जुकाम है सबकी जांच संभव नहीं है। स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि प्राथमिकता यह है कि जो भी लोग संक्रमित मरीज के संपर्क में आए हैं उनकी जांच की जाए।

स्रोत: स्थिति 21 मार्च सुबह 10 बजे तक।
आंकड़े विभिन्न देशों की हेल्थ मिनिस्ट्री वेबसाइट्स, मीडिया रिपोर्ट्स और डब्ल्यूएचओ पर आधारित

65 हजार से ज्यादा लोगों पर सर्विलांस

अभी देश में करीब 5500 लोगों (शुक्रवार तक) को क्वारेंटाइन में रखा गया है। 65 हजार से ज्यादा लोगों पर सर्विलांस किया जा रहा है। इन लोगों में यदि बीमारी का लक्षण दिखता है तो इनकी जांच को प्राथमिकता दी जाएगी। नमूनों की जांच की क्षमता बढ़ाई जा रही है। 121 सरकारी लैब में जांच की व्यवस्था की गई है। सभी में औसत हर दिन 90 जांच और जरुरत पड़नेे पर क्षमता दोगुनी की जा सकती है। इसके अलावा 10 जगहों पर ऐसी मशीन लगाने की व्यवस्था कर ली गई है जहां रोज एक लैब में 1400 नमूनों की जांच की क्षमता होगी।



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
20 मार्च की शाम छह बजे तक देश मेें कुल 15 हजार 701 नमूनों की जांच हुई ।


from Dainik Bhaskar /national/news/who-recommends-on-coronavirus-sampling-live-and-updates-127024541.html

Post a Comment

0 Comments