दिल्ली ने सबसे साफ हवा में सांस ली, मुंबई ने लहरों की आवाज सुनी; सड़क हादसाें में राेज मरने वाले 415 लोगों की जान बची

दिल्ली से अनिरुद्ध शर्मा, मुंबई से मनीषा भल्ला.जनता कर्फ्यू के बीच अमिताभ बच्चन ने ट्विटर पर समुद्र के खामोश किनारे का वीडियो शेयर कर लिखा ‘मरीन ड्राइव, आज की सुबह। यह है राष्ट्रीय अनुशासन के मायने, जयहिंद’। 24 घंटे भागने वाला मुंबई रविवार को थमकर समंदर की लहरों, पक्षियों, हवा की सरसराहट सुनता दिखाई दिया।

मुुंबई में शोर कम हुआ

मुंबई ट्रैफिक पुलिस के एसीपी प्रवीण पेडकर ने बताया कुछ दिनों पहले शोर पर नियंत्रण और जागरूकता के लिए हमें सिग्नल पर वॉइस मीटर लगाना पड़ा था। शाेर 85 डेसिबल से ऊपर जाते ही मीटर रेड लाइट का समय बढ़ा देता है। शोर ज्यादा करेंगे तो इंतजार भी लंबा करना पड़ेगा,लेकिन लॉकडाउन के 14 घंटों में सड़कों पर सुखद खामोशी थी।

दिल्ली में 3 साल में इस सीजन मेंसबसे साफ हवा

सेंट्रल पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड के सदस्य सचिव डॉ. प्रशांत भार्गवने बताया कि पहली बार गैर-मानसूनी दिनों में हवा ऐसी रही। 114 शहरों में से 10 शहरों में एयर क्वॉलिटी अच्छी, 60 में संतोषजनक, 36 में मध्यम रही। दिल्ली में एयर क्वॉलिटी इंडेक्स 183 रहा, जो 3 वर्षों में इस तारीख का सर्वश्रेष्ठ है। हवा में पीएम 10 और पीएम 2.5 कण कम थे। अधिक संख्या में ये कण जब श्वास के रास्ते फेफड़ों में जाते हैं तो सेहत बिगाड़ते हैं। इनसे खांसी और दमा बढ़ता है। ये हाई ब्लड प्रेशर और दिल के दौरे का खतरा भी बढ़ाते हैं।

देश की सड़कों पर कोई हादसा नहीं

एयर क्वॉलिटी विशेषज्ञ संजीव अग्रवाल ने बताया कि प्रदूषण 30% घट गया। ऑड-ईवन 3% कमी ही ला पाया था। दूसरी ओर आज देश की सड़कों पर कोई हादसा होने की सूचना नहीं मिली, जबकि सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय की रिपोर्ट कहती है कि रोज औसतन 1,280 सड़क दुर्घटनाएं होती हैं और इनमें 415 मौतें भी होती हैं।



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
जनता कर्फ्यू के दौैरान सुना पड़ा कनॉट प्लेस।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/33FeT1c

Post a Comment

0 Comments