'लोग लॉकडाउन पर सरकार का सहयोग नहीं करेंगे, तो बुधवार से कर्फ्यू लगाना पडे़गा'

'लोग लॉकडाउन पर सरकार का सहयोग नहीं करेंगे, तो बुधवार से कर्फ्यू लगाना पडे़गा'

जयपुर: राजस्थान में कोरोना वायरस के मामले सोमवार को 32 तक पहुंच गये। सोमवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राज्य के लोगों से आह्वान किया कि वे 31 मार्च तक घोषित लॉकडाउन का पूरी तरह से पालन करें और सभी के जीवन की रक्षा के लिए अपने घरों से नहीं निकलें। उन्होंने कहा कि यदि लोग स्वप्रेरित कर्फ्यू जैसा व्यवहार करके सरकार का सहयोग नहीं करेंगे, तो मजबूरी में सख्ती करनी पडे़गी और बुधवार से कर्फ्यू लगाना पडे़गा। गहलोत ने सोमवार को एक उच्चस्तरीय बैठक में यह निर्णय लिया।

उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि लॉकडाउन के तहत मंगलवार से केवल आवश्यक सेवाओं को छोडकर सभी तरह के निजी वाहनों के आवागमन पर सख्ती से रोक लगाई जाए। उन्होंने कहा कि कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए देश के कई राज्यों में कर्फ्यू लगाया गया है, हमें भी राजस्थान में कर्फ्यू लगाना पडे़गा, इसलिए आमजन अपने घरों में ही रहें। 

उन्होंने सभी स्टेट हाइवे पर स्थित टोल नाकों पर टोल की वसूली नहीं करने के भी निर्देश दिये। कोरोना वायरस की महामारी को फैलने से रोकने के लिये महाराष्ट्र, पंजाब, छत्तीसगढ और पुडुचेरी में कर्फ्यू लागू होने के एक दिन बाद उन्होंने यह चेतावनी जारी की है। 

राज्य में सोमवार को चार नये कोविड—19 पॉजिटिव मामले पाये गये। इससे कोरोना वायरस पॉजिटिव लोगो की संख्या अब तक 32 पहुंच गई है। अतिरिक्त मुख्य सचिव (स्वास्थ्य)रोहित कुमार सिंह ने बताया कि सोमवार को प्रतापगढ और जोधपुर में कोविड—19 के दो दो मामले पाये गये जिससे राज्य में कोरोना वायरस पॉजिटिव लोगो की संख्या 32 पहुंच गई है। 

उन्होंने बताया कि 89 संदिग्धों की जांच रिपोर्ट आनी बाकी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि लॉकडाउन की स्थिति में आमजन को होने वाली परेशानियों के समाधान के लिए एक ‘वार रूम‘ बनाया गया है, जो 24 घंटे संचालित होगा। इसके लिए राजस्थान संपर्क की हेल्पलाइन नम्बर 181 पर संपर्क किया जा सकेगा।



from India TV: india Feed https://ift.tt/2WExER2

Post a Comment

0 Comments