रामलला अस्थायी मंदिर में शिफ्ट, विशेष पूजा अर्चना के साथ शुरु हुआ राम मंदिर निर्माण

रामलला अस्थायी मंदिर में शिफ्ट, विशेष पूजा अर्चना के साथ शुरु हुआ राम मंदिर निर्माण

नई दिल्ली: अयोध्या में भगवान श्रीरामलला आज बुधवार को नवरात्रि के पहले दिन अस्थायी फाइबर मंदिर में शिफ्ट हो गए। रामलला की शिफ्टिंग के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद थे। विशेष पूजा अर्चना के साथ देव प्रतिमाओं को अस्थायी संरचना में स्थानांतरित करने के साथ ही राम मंदिर निर्माण का कार्य आरंभ हुआ। मंदिर का निर्माण कार्य पूरा होने तक प्रतिमाएं अस्थायी संरचना में रहेंगी। जयपुर के कारीगरों द्वारा बनाए गए साढ़े नौ किलो के चांदी के सिंहासन पर देव प्रतिमाएं स्थापित की गईं हैं।

कोरोना वायरस के खतरे के चलते प्रशासन द्वारा लगाए गए प्रतिबंधों के बीच मंदिर निर्माण कार्य की शुरुआत हुई। 

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास के सदस्यों विमलेंद्र मिश्रा और डॉ अनिल मिश्रा की उपस्थिति में विशेष पूजा अर्चना की गई। राम मंदिर न्यास के सचिव चंपत राय ने कहा कि कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए अयोध्या के साधु संतों को पूजा में आमंत्रित नहीं किया गया। 

इस तरह नवरात्र के पहले दिन रामलला समेत चारो भाइयों व हनुमानजी को बुलेटप्रूफ फाइबर के वातानुकूलित मंदिर में अनुष्ठानपूर्वक विराजित किया गया। चंपत राय ने बताया कि 25 मार्च की सुबह रामलला को नए अस्थायी भवन में सुबह चार बजे शिफ्ट किया गया। कोरोना वायरस के कहर के कारण शिफ्ट करने के तमाम भव्य कार्यक्रमों को सीमित कर दिया गया।

रामलला के प्रधान पुजारी आचार्य सत्येंद्र के अनुसार, किसी भी नए मंदिर में भगवान को विराजमान कराने से पहले उसकी कई मान्यताएं हैं। भगवान को विराजमान करने से पहले जमीन और मंदिर दोनों को पवित्र कराया गया। रामलला को शिफ्ट करने से पहले रास्ते का भी शुद्धिकरण किया गया और वैदिक मंत्रोच्चार के साथ रामलला पुराने मंदिर से नए अस्थायी मंदिर में विराजमान होने के लिए निकले।



from India TV: india Feed https://ift.tt/3ajcDPN

Post a Comment

0 Comments