भारत ने फ्रांस, जर्मनी और स्पेन के नागरिकों के आने पर रोक लगाई, तीनों देशों के नागरिकों का वीजा अस्थायी रूप से रद्द

नई दिल्ली. भारत में कोरोनावायरस से संक्रमण के अब तक 61 मामलों की पुष्टि हो गई है। मंगलवार को देशभर में 14 नए मामले सामने आए। इनमें केरल के आठ, पुणे और कर्नाटक के 3-3 केस हैं। वहीं, सरकार ने वायरस के खतरे को देखते हुए फ्रांस, जर्मनी और स्पेन के नागरिकों के देश में प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया है। साथ ही इन तीनोंदिशों से आने वाले उन नागरिकों के नियमित और ई-वीजा पर भी रोक लगा दी है, जिन्होंने देश में प्रवेश नहीं किया है।

इमिग्रेशन ब्यूरो ने मंगलवार देर रात नोटिफिकेशन जारी करते हुए कहा कि देश में प्रवेश नहीं करने वाले फ्रांस, जर्मनी और स्पेन के ऐसे नागरिक जिनका नियमित और ई-वीजा अब तक जारी हो चुका है, उसे तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। इसके साथ ही जिन नागरिकों ने 1 फरवरी या उसके बाद स्पेन, जर्मनी और फ्रांस की यात्रा की है, उनका भी नियमित और ई-वीजा निलंबित किया गया है।

कोरोनावायरस से प्रभावित देशों में यात्रा से बचने की सलाह

कैबिनेट सचिव राजीव गॉबा ने मंगलवार को कई मंत्रालयों और विभागों के सचिवों के साथ उच्चस्तरीय बैठक की, जिसके बाद यह नोटिफिकेशन जारी किया गया।इससे पहले स्वास्थ्य मंत्रालय ने चीन, इटली, जर्मनी, दक्षिण कोरिया, फ्रांस , स्पेन समेत कोरोनावायरससे प्रभावित देशों में यात्रा करने से बचने की सलाह दी है।

केरल में संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 14 पर पहुंचा
केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने मंगलवार कोकहा- राज्य में अब तक संक्रमण के 14 मामले सामने आ चुके हैं। इसके खतरे को देखते हुएसातवीं तक की कक्षाएं और परीक्षाएं 31 मार्च तक स्थगित रहेंगी। कक्षा 8, 9 और 10 की परीक्षाएं निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार होंगी। 31 मार्च तक ट्यूशन क्लास, आंगनवाड़ी, मदरसे बंद कर दिए गए हैं। 11-31 मार्च तक थिएटर भी बंद रहेंगे।

31 मार्च तक विदेशी शिप की एंट्री बैन

  • भारत ने 31 मार्च तक सभी विदेशी शिप की एंट्री बैन कर दी है। इसी के तहत मंगलौर में एक यूरोपियन कंपनी का जहाज वापस भेज दिया गया। रविवार को यूरोपियन कंपनी एमएससी क्रूज की शिप लिरिका को मंगलौर तट पर एंट्री नहीं दी गई। इस कंपनी की वेबसाइट के मुताबिक, यह दुनिया की सबसे बड़ी निजी क्रूज लाइन है। इसके दुनियाभर में 30 हजार से ज्यादा कर्मचारी हैं।
  • स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने सोमवार को कहा था-मास्क और सैनिटाइजर को लेकर अफवाह फैलाई जा रही है। सभी को मास्क लगाने की जरूरत नहीं है। केवल जो अस्वस्थ है, उसे मास्क पहनना जरूरी है ताकि किसी और को इन्फेक्शन न हो।

संक्रमण की जांच के लिए देश में 52 लैब
इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) ने स्वास्थ्य और शोध विभाग के साथ मिलकर संक्रमण की जांच के लिए देशभर में 52 लैब बनाई हैं। दिल्ली के लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज समेत देश के कई स्थानों पर वायरस रिसर्च एंड डॉयग्नॉस्टिक लैब (वीआरडी) नमूने एकत्रित कर रही हैं। 6 मार्च तक 3,404 लोगों के 4,058 सैंपल की जांच की जा चुकी है। इनमें चीन के वुहान से लाए गए 654 लोगों के 1,308 सैंपल भी शामिल हैं।

विदेशी यात्रियों की 30 एयरपोर्ट्स पर स्क्रीनिंग
देश के 30 एयरपोर्ट्स पर विदेश से आने वाले यात्रियों की स्क्रीनिंग की जा रही है। दक्षिण कोरिया और इटली से आने वालों को देश में प्रवेश करने से पहले कोरोनावायरस फ्री सर्टिफिकेट दिखाना होगा। सरकार इटली, ईरान, दक्षिण कोरिया और जापान से आने वाले लोगों के वीजा और ई-वीजा रद्द कर चुकी है। केंद्र सरकार के दफ्तरों में 31 मार्च तक बायोमीट्रिक अटेंडेंस पर रोक लगा दी गई है।



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
नई दिल्ली में संक्रमण की जांच करते स्वास्थ्यकर्मी।


from Dainik Bhaskar /national/news/coronavirus-india-total-cases-latest-news-updates-france-germany-and-spain-suspending-regular-and-e-visas-126948890.html

Post a Comment

0 Comments