सिंगापुर ने फ्री सेफ्टी किट बांटी तो सिडनी ने आर्थिक मदद दी; स्पेन ने सेल्फ स्टर्लाइजेशन किया तो इटली ने बिना काम घूमने वालों को रोका

जयपुर (महेश शर्मा/अनुराग बासीड़ा).विदेश से आई कोरोना महामारी ने परदेस में रहने वाले प्रियजनों को लेकर चिंता में डाल दिया है। एक ओर सरकार की एडवाइजरी है, दूसरी ओर प्रियजनों की एक-दूसरे को हर दिन दी जा रही सीख। विदेशों में हालात कुछ सामान्य हो रहे हैं। महामारी से संभलने के तरीके उन्होंने सीख लिए हैं। बातें छोटी भले ही हों, लेकिन महामारी के खिलाफ जंग में बड़े हथियार के तौर पर काम करने वाली हैं। भास्कर ने विदेशों में रह रहे कई लोगों से इस महामारी के दौरान निपटने के हालात को जाना कि लोगों ने क्या सावधानियां बरतीं।

सिंगापुर: कोविड एप से पता चलता-संक्रमित पास तो नहीं

श्रेय मेहता। (दाएं)

श्रेय मेहता के मुताबिक, सिंगापुर में स्थितियां अब नियंत्रण में हो रही हैं। क्योंकि,हमने बीमारी को मुंह नहीं लगाया। यहां हर मॉल, मल्टीस्टोरी बिल्डिंग में रहने वाले का चेकअप हुआ है। हर आदमी को मास्क और सैनिटाइजर फ्री में बांटे गए। हेल्थ टीम ने जगह-जगह कैंप लगा रखे हैं। अब तो सरकार ने एक ‘कोविड-एप’ शुरू कर दिया है। ब्लूटूथ से पता लग जाता है कि कोई किस मरीज के पास से तो नहीं गुजरा।

सेल्फ स्टर्लाइजेशन; 24 घंटे बाद सामान घर में लाते हैं

सौरभ चौधरी स्पेन के मैड्रिड की पारला कम्युनिटी में कपड़ा व्यवसायी हैं।

बीकानेर के मुक्ताप्रसाद कॉलोनी के रहने वाले सौरभ चौधरी स्पेन के मैड्रिड की पारला कम्युनिटी में कपड़ा व्यवसायी हैं। यहां होम डिलीवरी ऐसी है कि हम पैसे बाहर रख देते हैं और डिलीवरी बाॅय सामान रख देता है। एहतियातन 24 घंटे बाद हम सामान घर में लाते हैं ताकि धूप में पैकेट सेल्फ स्टर्लाइज हो जाएं। यहां सरकार ने 600 यूरो से 6 लाख यूरो तक जुर्माना लगाया है। अभी तक 15 हजार चालान हो चुके हैं।

ऑस्ट्रेलियाई सरकार अब तो फाइंनेंशियली सपोर्ट कर रही

सिडनी में रह रहे योगेश घोड़ेला।(बाएं)

सिडनी में रह रहे योगेश घोड़ेला की मानें तो जयपुर में परिवार के लोग और दोस्त चिंतित हैंजबकि मैं उन्हें लेकर चिंता में हूं।यहां महामारी का असर ज्यादा है, लेकिन उसी तेजी के साथ सरकार और लोगों का ऐसा सामंजस्य बना हुआ है कि अब नए मरीज आने से रुकेंगे। हम राशन की दिक्कत को झेल चुके हैं। खास बात यह है कि अगर किसी के पास पैसा नहीं है तो सरकार उसको पैसे की मदद कर रही है।

बिना काम घूमने वालों की गाड़ियां जब्त, लाइसेंस रद्द

सुजानगढ़ के प्रगतिनगर के महेंद्र गुलेरिया जो फिलहाल रोम में हैं।

सुजानगढ़ के प्रगतिनगर के महेंद्र गुलेरिया रोम के पार्को अज्जुर्राे, कॉलेवेरदे, रोमामें रेस्टॉरेंट चलाते हैं। 1 मार्च को रोम में 1 हजार नागरिक पॉजिटिव थे, अब (शनिवार तक) 46 हजार हो गए है। इसमें लोगों की लापरवाही ही मुख्य वजह रही। पुलिस अब अनावश्यक घूमने वालों की गाड़ियां जब्त कर रही है और उनका लाइसेंस 6 महीने के लिए रद्द कर रही है। पैदल घूमने वालो पर 260 यूरो जुर्माना लगाया जा रहा है। लोगों को स्टोर्स पर एक-एक कर एंट्री दी जा रही है।



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
इटली का सेन कारलो स्कवायर लॉकडाउन के बाद खाली


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2J4mdtA

Post a Comment

0 Comments